RNI NO : RAJBIL/2013/50688
For News (24x7) : 9829070307
booked.net - hotel reservations online
+43
°
C
+43°
+38°
Ajmer
Saturday, 08
See 7-Day Forecast
Visitors Count - 64559131
Breaking News
Ajmer Breaking News: कांजी हाउस में लापरवाही के चलते लोग एक गाय की हो रही है मृत्यु |  Ajmer Breaking News: लघु उद्योग एसोसिएशन ने निगम आयुक्त को प्लास्टिक बैन को लेकर सौंपा ज्ञापन |  Ajmer Breaking News: मीडियाकर्मी के साथ निगम अधिकारी अशोक मीणा ने की मारपीट |  Ajmer Breaking News: पशु क्रूरता निवारण को लेकर कलेक्टर सभागार में आयोजित बैठक |  Ajmer Breaking News: दुष्कर्म के खिलाफ अजमेर के युवाओ ने उठाई आवाज़ |  Ajmer Breaking News: कंचन नगर निवासी मृतक महिला को उसी के पति ने दिया था जहर |  Ajmer Breaking News: सीटेट की परीक्षा संपन्न |  Ajmer Breaking News: कदम से कदम मिलाकर आर एस एस ने निकाला पथ संचलन |  Ajmer Breaking News: केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्द खान पहुचे अजमेर |  Ajmer Breaking News: कांग्रेसियों ने सोनिया गांधी के जन्म दिवस से पहले दरगाह में पेश की चादर | 

बाल यौन शोषण 

Post Views 4

November 15, 2019

बाल यौन शोषण 


समाज और बच्चे के लिए बाल यौन शोषण कोई नयी समस्या नहीं है। ये एक वैश्विक समस्या है। ये समस्या 1970 और 1980 के दशक के बाद एक सार्वजनिक मुद्दा बन गयी है। इन वर्षों से पहले ये मुद्दा नागर समाज में दर्ज नहीं होता था। छेड़छाड़ से संबंधित मुद्दों की पहली सूचना वर्ष 1948 में और 1920 के दशक में मिली थी। नब्बे के दशक में बाल यौन शोषण पर कोई औपचारिक अध्ययन नहीं था। जहाँ तक भारत का संबंध है, ये विषय अभी भी चर्चा के लिए वर्जित है, क्योंकि इस मुद्दे को घर की चारदिवारी के ही अन्दर रखने के लिये कहा जाता है और बाहर किसी भी कीमत पर बताने की अनुमति नहीं दी जाती। एक रुढ़िवादी समाज में जैसे कि हमारा भारतीय समाज, जहां छेड़छाड़ के मुद्दे पर लड़की अपनी माता से भी बात करने में असहज महसूस करती है। यह पूरी तरह से अकल्पनीय हो जाता है कि यदि उसे अनुचित स्थानों पर छूआ गया है तो उसे चुप रहने की सलाह दी जाती है। जबकि हाल ही में मि तू कैंपेन चला जिसमें लड़कियों और लड़कों से कहा गया कि यदि वो कभी भी इस तरह के स्थिति से गुजरे हैं तो आवाज़ उठायें।


बाल यौन शोषण एक अपराध है जिसे अनदेखा किया जाता है, क्योंकि लोग इस पर बात करने से बचते हैं। इस विषय के बारे में लोगों में जागरूकता पैदा करने के प्रयासों के द्वारा इस प्रकार की घटनाओं को काफी हद तक कम किया जा सकता है। अपराधियों के मन में डर डाले जाने की आवश्यकता है। यह तभी संभव है जब लोग इसका सामना करने के लिये तैयार हों। अब समय आ गया है कि माता-पिता द्वारा इस तरह के मुद्दों के बारे में अपने बच्चों को जागरूक बनाने के लिये इस विषय पर विचार-विमर्श किया जाये। शैक्षिक संस्थानों को भी जागरूकता कैंप आयोजित करने चाहिये जो सेक्सुएलिटी (लैंगिकता) विषय पर सटीक जानकारी प्रदान करने में सहायक होंगे। यद्यपि इस दिशा में कुछ प्रयास फिल्मों के माध्यम से भी किये गये जैसे: स्लम डॉग मिलेनियर, जिसमें बाल वैश्यावृति को पेश किया गया है, इसमें और अधिक प्रयासों को करने की आवश्यकता है। ये सुनिश्चित करने के लिये कि अपराधी, अपराध के भारी दंड के बिना छूट न जायें इसके लिये कानूनों और धाराओं को और अधिक कड़ा करना होगा। अन्त में, बाल यौन शोषण के मुद्दे से और अधिक अनदेखे मुद्दे की तरह व्यवहार न किया जाये क्योंकि ये समाज के कामकाज के तरीके को प्रभावी रूप में प्रभावित करता है और युवा लोगों के मन पर गहरा प्रभाव डालता है।


सिर्फ लड़कियों ही नहीं यह उन लड़कों के मामलों में भी होता है जो स्वतंत्र रूप से अपने माता-पिता के साथ वर्जित मान लिए गए विषय पर बात करने के लिए सक्षम नहीं हैं। ये पूरे समाज की मानसिकता है जो बुरे लोगों को प्रोत्साहित करने का काम करती है। कुछ लोग मासूम बच्चे के दिमाग में बैठे डर का लाभ उठाते हैं, वो बेचारा मासूम बच्चा/बच्ची जिसे यौन उत्पीड़न के बारे में कोई जानकारी नहीं होती वो दिन प्रतिदिन इस का शिकार होता है।


सलिल सरोज

कार्यकारी अधिकारी

लोक सभा सचिवालय

संसद भवन 

नई दिल्ली

Latest News

December 9, 2019

कांजी हाउस में लापरवाही के चलते लोग एक गाय की हो रही है मृत्यु

Read More

December 9, 2019

लघु उद्योग एसोसिएशन ने निगम आयुक्त को प्लास्टिक बैन को लेकर सौंपा ज्ञापन

Read More

December 9, 2019

मीडियाकर्मी के साथ निगम अधिकारी अशोक मीणा ने की मारपीट

Read More

December 9, 2019

पशु क्रूरता निवारण को लेकर कलेक्टर सभागार में आयोजित बैठक

Read More

December 8, 2019

दुष्कर्म के खिलाफ अजमेर के युवाओ ने उठाई आवाज़

Read More

December 8, 2019

कंचन नगर निवासी मृतक महिला को उसी के पति ने दिया था जहर

Read More

December 8, 2019

सीटेट की परीक्षा संपन्न

Read More

December 8, 2019

कदम से कदम मिलाकर आर एस एस ने निकाला पथ संचलन

Read More

December 8, 2019

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्द खान पहुचे अजमेर

Read More

December 8, 2019

कांग्रेसियों ने सोनिया गांधी के जन्म दिवस से पहले दरगाह में पेश की चादर

Read More