RNI NO : RAJBIL/2013/50688
For News (24x7) : 9829070307
booked.net - hotel reservations online
+43
°
C
+43°
+38°
Ajmer
Saturday, 08
See 7-Day Forecast
Visitors Count - 64557289
Breaking News
Ajmer Breaking News: कांजी हाउस में लापरवाही के चलते लोग एक गाय की हो रही है मृत्यु |  Ajmer Breaking News: लघु उद्योग एसोसिएशन ने निगम आयुक्त को प्लास्टिक बैन को लेकर सौंपा ज्ञापन |  Ajmer Breaking News: मीडियाकर्मी के साथ निगम अधिकारी अशोक मीणा ने की मारपीट |  Ajmer Breaking News: पशु क्रूरता निवारण को लेकर कलेक्टर सभागार में आयोजित बैठक |  Ajmer Breaking News: दुष्कर्म के खिलाफ अजमेर के युवाओ ने उठाई आवाज़ |  Ajmer Breaking News: कंचन नगर निवासी मृतक महिला को उसी के पति ने दिया था जहर |  Ajmer Breaking News: सीटेट की परीक्षा संपन्न |  Ajmer Breaking News: कदम से कदम मिलाकर आर एस एस ने निकाला पथ संचलन |  Ajmer Breaking News: केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्द खान पहुचे अजमेर |  Ajmer Breaking News: कांग्रेसियों ने सोनिया गांधी के जन्म दिवस से पहले दरगाह में पेश की चादर | 

पाकिस्तान अपनी जमीन पर आतंकियों को फंडिंग, भर्ती और उनकी ट्रेनिंग रोकने में नाकाम

Post Views 6

November 2, 2019

वॉशिंगटन. अमेरिकी विदेश विभाग ने शुक्रवार को ‘कंट्री रिपोर्ट ऑन टेररिज्म 2018’ जारी की। इसके मुताबिक, पाकिस्तान अपनी जमीन पर आतंकियों को फंडिंग, भर्ती और उनकी ट्रेनिंग रोकने में नाकाम रहा है। रिपोर्ट में पाकिस्तान को अफगान तालिबान और हक्कानी नेटवर्क के लिए सुरक्षित पनाहगार भी बताया गया। यहां के राजनेताओं ने तालिबान को खुलेआम समर्थन दिया है।

रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि आतंकी संगठनों ने बलूचिस्तान और सिंध प्रांत में सरकारी, गैर-सरकारी संगठनों और डिप्लोमेटिक मिशनों को लगातार निशाना बनाया। आतंकी संगठन पाकिस्तान के अलावा पड़ोसी देशों में भी हमलों को भी अंजाम देते रहे हैं।

टेरर फंडिंग रोकने में पाकिस्तान नाकाम

जुलाई 2018 में जमात-उद-दावा सरगना और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने राजनीतिक पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) बनाकर चुनाव लड़ा था। इस पर रिपोर्ट में कहा गया कि लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और जमात-उद-दावा की फंडिंग में लगातार बढ़ोतरी हुई है। पाकिस्तान सरकार इस पर लगाम लगाने में नाकाम रही।

एफएटीएफ ने पाकिस्तान को फरवरी 2020 तक समय दिया

टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग पर नजर रखने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था फाइनेंशल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) ने पाकिस्तान को जून 2018 में ग्रे-लिस्ट में डाला था। उसे 27 सूत्रीय योजना को क्रियान्वित करने के लिए 15 महीने की डेडलाइन दी गई थी, जो सितंबर में खत्म हो गई। इसके बाद एफएटीएफ ने अक्टूबर में पाकिस्तान को चीन, मलेशिया और इंडोनेशिया के समर्थन के बाद टेरर फंडिंग रोकने के लिए फरवरी 2020 तक का समय और दिया है।

Latest News

December 9, 2019

कांजी हाउस में लापरवाही के चलते लोग एक गाय की हो रही है मृत्यु

Read More

December 9, 2019

लघु उद्योग एसोसिएशन ने निगम आयुक्त को प्लास्टिक बैन को लेकर सौंपा ज्ञापन

Read More

December 9, 2019

मीडियाकर्मी के साथ निगम अधिकारी अशोक मीणा ने की मारपीट

Read More

December 9, 2019

पशु क्रूरता निवारण को लेकर कलेक्टर सभागार में आयोजित बैठक

Read More

December 8, 2019

दुष्कर्म के खिलाफ अजमेर के युवाओ ने उठाई आवाज़

Read More

December 8, 2019

कंचन नगर निवासी मृतक महिला को उसी के पति ने दिया था जहर

Read More

December 8, 2019

सीटेट की परीक्षा संपन्न

Read More

December 8, 2019

कदम से कदम मिलाकर आर एस एस ने निकाला पथ संचलन

Read More

December 8, 2019

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्द खान पहुचे अजमेर

Read More

December 8, 2019

कांग्रेसियों ने सोनिया गांधी के जन्म दिवस से पहले दरगाह में पेश की चादर

Read More