राज्य

2019 में नतीजे क्या रहे?

पिछले विधानसभा चुनाव के नतीजे

एनडीए

यूपीए

एनडीए

यूपीए

महाराष्ट्र (48)

415

भाजपा : 122

शिवसेना : 63

कांग्रेस : 42

राकांपा : 41

हरियाणा (10)

100

भाजपा : 47

कांग्रेस : 15

झारखंड (14)

122

भाजपा : 37

आजसू : 5

कांग्रेस : 7

जम्मू-कश्मीर (6)

33

भाजपा : 25

पीडीपी : 28

कांग्रेस : 12

नेकां : 15

दिल्ली (7)

70

भाजपा : 3

कांग्रेस : 0

तीन राज्यों पर रहेगी नजर
1) महाराष्ट्र

2014 के लोकसभा चुनाव में एनडीए की जीत के बाद भाजपा और शिवसेना में मतभेद बढ़ गए थे। इसके बाद भाजपा और शिवसेना ने विधानसभा चुनाव अलग-अलग लड़ा था। नतीजों में भाजपा को 122 और शिवसेना को 63 सीटें मिलीं। इसके बाद कुछ दिनों तक दोनों दलों के बीच अनिर्णय की स्थिति रही। आखिरकार शिवसेना और भाजपा ने दोबारा गठबंधन किया और सरकार बनाई। 

2) दिल्ली
2013 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में मुकाबला त्रिकोणीय बना दिया था। 2013 में अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनाई। लेकिन दो महीने बाद ही फरवरी 2014 में उन्होंने इस्तीफा दे दिया। इसके बाद  2015 में दोबारा वहां चुनाव हुए। इस चुनाव में केजरीवाल की लहर में भाजपा 70 में से सिर्फ 3 सीटें जीत पाई। आप को 67 सीटें मिलीं और कांग्रेस खाली हाथ रही।

3) जम्मू-कश्मीर
राज्य में 2014 में विधानसभा चुनाव हुए। इसमें किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला। मार्च 2015 में भाजपा ने पीडीपी के साथ मिलकर सरकार बनाई और मुफ्ती मोहम्मद सईद मुख्यमंत्री बने। 2016 में उनके निधन के बाद 88 दिन मुख्यमंत्री पद खाली रहा। बाद में भाजपा ने महबूबा मुफ्ती को समर्थन दिया और वे मुख्यमंत्री बनीं। जून 2018 में भाजपा ने पीडीपी से समर्थन वापस ले लिया और मेहबूबा मुफ्ती को इस्तीफा देना पड़ा।

तीन प्रमुख मुद्दों पर आगे क्या?

  1. राम मंदिर पर कोर्ट के फैसले का इंतजार फैसला हक में नहीं आया तो अध्यादेश संभव : सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित तीन सदस्यों की मध्यस्थता कमेटी अपनी रिपोर्ट अगस्त में सौंपने वाली है। इसके बाद कोर्ट का फैसला अगर मंदिर के निर्माण के खिलाफ आया तो सरकार अध्यादेश ला सकती है। चुनाव के दौरान भाजपा नेता ऐसा कहते आए हैं। अगर पक्ष में आया तो सरकार मंदिर निर्माण में तेजी दिखाने की बात कर चुकी है।
  2. धारा-370 खत्म करना बड़ी चुनौती बनी रहेगी; बेशक शाह इसका वादा कर चुके हैं : प्रचार के दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह घोषणा कर चुके हैं कि सरकार बनते ही कश्मीर से धारा-370 हटा दी जाएगी। इसके लिए शिवसेना भी लगातार दबाव बनाती आई है। इसी के साथ सरकार को कश्मीर में पाकिस्तानी नागरिकों को बसने का अधिकार देने वाली व्यवस्था के खिलाफ दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार है।
  3. 5 लाख तक की आय टैक्स फ्री होने की उम्मीद, पहले ही बजट सत्र में मंजूरी संभव : पांच लाख तक की आय पर आयकर छूट का मसौदा संसद में आएगा। चुनाव से पहले अंतरिम बजट में सरकार ने घोषणा की थी कि यह छूट 1 अप्रैल से लागू होगी।
" />
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
For News (24x7) : 9829070307
booked.net - hotel reservations online
+43
°
C
+43°
+38°
Ajmer
Saturday, 08
See 7-Day Forecast
Visitors Count - 47318168
Breaking News
पंचायत उप चुनाव ः जिले में 23 वार्डपंच निर्विरोध निर्वाचित |  मिसाल डिस्टि्रक हैल्थ रेकिंग में अजमेर द्वितीय स्थान पर |  स्मार्ट सिटी योजना में हुए करोड़ों रूपए के विकास कार्य अतिरिक्त जिला कलक्टर ने दी जानकारी, जारी रहेंगे काम |  जिला स्तरीय शान्ति समिति की बैठक सम्पन जिले में शान्ति, सौहार्द एवं सद्भाव बनाए रखना हमारी सभी की प्राथमिकता - जिला कलक्टर |  आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी से पीड़ित लोगो ने ली न्यायलय की शरण |  कलेक्टर सभागार में शांति समिति की बैठक आयोजित |  लुटेरो ने माहोल बनाकर एक व्यापारी के स्कूटर से लुटे 2 लाख 65 हजार रूपए |  माखूपूरा क्षेत्र स्तिथ जलदाय विभाग पर बंदरो ने मचाया आतंक |  राजस्व मण्डल कार्यालय में चोरी |  आर एस 2018 की मुख्य परीक्षा हुई आज से प्रारंभ | 

अगले 8 महीने में 5 राज्यों में चुनाव, इनकी 85 लोकसभा सीटों में से एनडीए ने 73 और यूपीए ने 10 जीतीं

Post Views 93

May 24, 2019

ajmer news , rajasthan news , horizon , horizon hind

नई दिल्ली. अगले 8 महीनों में 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। इन राज्यों में 85 लोकसभा सीटें आती हैं। इनमें से इस बार एनडीए ने 73 और यूपीए ने 10 सीटें जीतीं। पिछली बार इन सीटों में से एनडीए ने 70 और यूपीए ने 7 सीटें जीती थी। 2014 में लोकसभा चुनाव के बाद हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा को फायदा मिला था और इन 5 राज्यों में से चार में एनडीए ने सरकार बनाई थी। नई सरकार बनने के बाद राम मंदिर निर्माण, धारा 370 खत्म करने और 5 लाख तक की आय टैक्स फ्री होने की उम्मीद है। 

तीन राज्यों में अभी एनडीए सत्ता में, यहां की 72 में से एनडीए ने 63 सीटें जीतीं


राज्य

2019 में नतीजे क्या रहे?

पिछले विधानसभा चुनाव के नतीजे

एनडीए

यूपीए

एनडीए

यूपीए

महाराष्ट्र (48)

415

भाजपा : 122

शिवसेना : 63

कांग्रेस : 42

राकांपा : 41

हरियाणा (10)

100

भाजपा : 47

कांग्रेस : 15

झारखंड (14)

122

भाजपा : 37

आजसू : 5

कांग्रेस : 7

जम्मू-कश्मीर (6)

33

भाजपा : 25

पीडीपी : 28

कांग्रेस : 12

नेकां : 15

दिल्ली (7)

70

भाजपा : 3

कांग्रेस : 0

तीन राज्यों पर रहेगी नजर
1) महाराष्ट्र

2014 के लोकसभा चुनाव में एनडीए की जीत के बाद भाजपा और शिवसेना में मतभेद बढ़ गए थे। इसके बाद भाजपा और शिवसेना ने विधानसभा चुनाव अलग-अलग लड़ा था। नतीजों में भाजपा को 122 और शिवसेना को 63 सीटें मिलीं। इसके बाद कुछ दिनों तक दोनों दलों के बीच अनिर्णय की स्थिति रही। आखिरकार शिवसेना और भाजपा ने दोबारा गठबंधन किया और सरकार बनाई। 

2) दिल्ली
2013 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में मुकाबला त्रिकोणीय बना दिया था। 2013 में अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनाई। लेकिन दो महीने बाद ही फरवरी 2014 में उन्होंने इस्तीफा दे दिया। इसके बाद  2015 में दोबारा वहां चुनाव हुए। इस चुनाव में केजरीवाल की लहर में भाजपा 70 में से सिर्फ 3 सीटें जीत पाई। आप को 67 सीटें मिलीं और कांग्रेस खाली हाथ रही।

3) जम्मू-कश्मीर
राज्य में 2014 में विधानसभा चुनाव हुए। इसमें किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला। मार्च 2015 में भाजपा ने पीडीपी के साथ मिलकर सरकार बनाई और मुफ्ती मोहम्मद सईद मुख्यमंत्री बने। 2016 में उनके निधन के बाद 88 दिन मुख्यमंत्री पद खाली रहा। बाद में भाजपा ने महबूबा मुफ्ती को समर्थन दिया और वे मुख्यमंत्री बनीं। जून 2018 में भाजपा ने पीडीपी से समर्थन वापस ले लिया और मेहबूबा मुफ्ती को इस्तीफा देना पड़ा।

तीन प्रमुख मुद्दों पर आगे क्या?

  1. राम मंदिर पर कोर्ट के फैसले का इंतजार फैसला हक में नहीं आया तो अध्यादेश संभव : सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित तीन सदस्यों की मध्यस्थता कमेटी अपनी रिपोर्ट अगस्त में सौंपने वाली है। इसके बाद कोर्ट का फैसला अगर मंदिर के निर्माण के खिलाफ आया तो सरकार अध्यादेश ला सकती है। चुनाव के दौरान भाजपा नेता ऐसा कहते आए हैं। अगर पक्ष में आया तो सरकार मंदिर निर्माण में तेजी दिखाने की बात कर चुकी है।
  2. धारा-370 खत्म करना बड़ी चुनौती बनी रहेगी; बेशक शाह इसका वादा कर चुके हैं : प्रचार के दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह घोषणा कर चुके हैं कि सरकार बनते ही कश्मीर से धारा-370 हटा दी जाएगी। इसके लिए शिवसेना भी लगातार दबाव बनाती आई है। इसी के साथ सरकार को कश्मीर में पाकिस्तानी नागरिकों को बसने का अधिकार देने वाली व्यवस्था के खिलाफ दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार है।
  3. 5 लाख तक की आय टैक्स फ्री होने की उम्मीद, पहले ही बजट सत्र में मंजूरी संभव : पांच लाख तक की आय पर आयकर छूट का मसौदा संसद में आएगा। चुनाव से पहले अंतरिम बजट में सरकार ने घोषणा की थी कि यह छूट 1 अप्रैल से लागू होगी।

Latest News

June 25, 2019

पंचायत उप चुनाव ः जिले में 23 वार्डपंच निर्विरोध निर्वाचित

Read More

June 25, 2019

मिसाल डिस्टि्रक हैल्थ रेकिंग में अजमेर द्वितीय स्थान पर

Read More

June 25, 2019

स्मार्ट सिटी योजना में हुए करोड़ों रूपए के विकास कार्य अतिरिक्त जिला कलक्टर ने दी जानकारी, जारी रहेंगे काम

Read More

June 25, 2019

जिला स्तरीय शान्ति समिति की बैठक सम्पन जिले में शान्ति, सौहार्द एवं सद्भाव बनाए रखना हमारी सभी की प्राथमिकता - जिला कलक्टर

Read More

June 25, 2019

आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी से पीड़ित लोगो ने ली न्यायलय की शरण

Read More

June 25, 2019

कलेक्टर सभागार में शांति समिति की बैठक आयोजित

Read More

June 25, 2019

लुटेरो ने माहोल बनाकर एक व्यापारी के स्कूटर से लुटे 2 लाख 65 हजार रूपए

Read More

June 25, 2019

माखूपूरा क्षेत्र स्तिथ जलदाय विभाग पर बंदरो ने मचाया आतंक

Read More

June 25, 2019

राजस्व मण्डल कार्यालय में चोरी

Read More

June 25, 2019

आर एस 2018 की मुख्य परीक्षा हुई आज से प्रारंभ

Read More