RNI NO : RAJBIL/2013/50688
For News (24x7) : 9829070307
booked.net - hotel reservations online
+43
°
C
+43°
+38°
Ajmer
Saturday, 08
See 7-Day Forecast
Visitors Count - 62125966
Breaking News
Ajmer Breaking News: केंद्रीय कारागृह भ्रष्टाचार मामले में एसीबी न्यायालय में पेश की चार्जशीट |  Ajmer Breaking News: अग्निशमन केंद्र के अधिकारियों ने पटाखों की दुकान का क्या निरीक्षण |  Ajmer Breaking News: ख्वाजा मॉडल स्कूल में कैंसर पर जागरूकता कार्यशाला का आयोज |  Ajmer Breaking News: पान की दुकान में सवा लाख की चोरी |  Ajmer Breaking News: राम नगर डिस्पेंसरी पर चिकित्सक ना होने से हो रही है परेशानी |  Ajmer Breaking News: घर के बाहर से स्कॉर्पियो चोरी करने वाला चोर गिरफ्तार |  Ajmer Breaking News: 21 अक्टूबर को सोफिया गर्ल्स कॉलेज में होगा एलुमनाई मीट का आयोजन |  Ajmer Breaking News: श्री पुष्कर पशु मेला 2019 समन्वय उप समिति की समीक्षा बैठक 19 अक्टूबर को |  Ajmer Breaking News: महिलाओं के लिए निःशुल्क प्रवेश 21 अक्टूबर तक |  Ajmer Breaking News: स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की बैठक प्रोजेक्ट के कार्यों के प्रस्ताव एक सप्ताह में प्रस्तुत करें - जिला कलक्टर | 
madhukarkhin

यदि सत्ता में आना है तो नेतृत्व बदलना होगा कांग्रेस को

Post Views 4

May 19, 2018

लो भाई आ गया कर्नाटक चुनाव का नतीजा !!! कांग्रेस को यहां भी स्वीकार नहीं किया जनता ने। भाजपा से जनता चाहे कितनी भी नाखुश हो दरअसल राहुल गांधी का चेहरा स्वीकार नहीं कर पा रहे लोग। *कांग्रेस आला कमान को या तो यह बात समझ नहीं आ रही या फिर राहुल गांधी के बाल हठ के आगे मजबूर है। इसीलिए अपनी आंखों के आगे कांग्रेस को स्वाहा होते हुए देख रहा है* ।

शीर्ष नेतृत्व करने वाले चेहरों की कमज़ोरी अपने आप में एक मुद्दा है जिसकी मार से कांग्रेस एक हाथ बंधे हुए फौजी की तरह मार खा रही है। *कोई फर्क नहीं है कश्मीर में भीड़ के हाथों मार खाने वाले फौजियों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं में। जिनके पास हथियार है, ताक़त है , हिम्मत भी है लेकिन आदेश नही है सही दिशा में गोली चलाने के।* आज की स्तिथि में राहुल गांधी खुद ही कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी मुश्किल बने हुए हैं। क्योंकि उनको कोई सामने बैठ कर यह नहीं कहता कि - *भाई !! मान जाओ और किसी और को नेतृत्व करने दो* । इतिहास गवाह है कि जिसने भी *गांधी परिवार को चुनौती दी है वह निपट गया है। चाहे माधव राव सिंधिया हों या राजेश पायलट या फिर अर्जुन सिंह ही क्यों न हो। पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी तक को प्रधानमंत्री का चेहरा इसलिए नहीं बनाया गया क्योंकि वह बहुत मुखर होकर कांग्रेस हित की बात कहते रहे* । परंतु जो हालात आज बने हैं कांग्रेस के ऐसे आज तक कभी नहीं रहे । लेकिन फिर भी आज *जितने दबाव में कांग्रेस का हर शीर्ष नेता काम करता है वह अपने आप में उनकी हिम्मत को सलाम है* । *राहुल गांधी से बेहतर तो शायद पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत या फिर सचिन पायलट ही कई गुना ज्यादा बेहतर चेहरा हो सकते हैं प्रधानमंत्री पद हेतु।* लेकिन नहीं साहब !!! यहां तो सब के सब अंतर्मन में नहीं चाहते हुए भी राहुल गांधी जिंदाबाद बोलने पर मजबूर हैं। यह बात तय है कि यदि कांग्रेस को वापस सत्ता में आना है तो किसी भी कीमत पर अपनी पुरानी जड़ों की तरफ जाना होगा और युवाओं को आगे बढ़ाने की आड़ में इस प्रयोगवाद पर रोक लगानी होगी। वरना यूँ रोज़ रोज़ नए प्रयोग करने से कांग्रेस का रसातल में जाना तय है।

Latest News

October 17, 2019

केंद्रीय कारागृह भ्रष्टाचार मामले में एसीबी न्यायालय में पेश की चार्जशीट

Read More

October 17, 2019

अग्निशमन केंद्र के अधिकारियों ने पटाखों की दुकान का क्या निरीक्षण

Read More

October 17, 2019

पार्षद फार्म के नाम पर वसुली करने पर कांग्रेसी हुए हताश

Read More

October 17, 2019

ख्वाजा मॉडल स्कूल में कैंसर पर जागरूकता कार्यशाला का आयोज

Read More

October 17, 2019

पान की दुकान में सवा लाख की चोरी

Read More

October 17, 2019

राम नगर डिस्पेंसरी पर चिकित्सक ना होने से हो रही है परेशानी

Read More

October 17, 2019

घर के बाहर से स्कॉर्पियो चोरी करने वाला चोर गिरफ्तार

Read More

October 17, 2019

21 अक्टूबर को सोफिया गर्ल्स कॉलेज में होगा एलुमनाई मीट का आयोजन

Read More

October 17, 2019

अकेले जयपुर में 1084 पॉजिटिव, ना फोगिंग और ना ही एंटीलार्वा गतिविधि तो कैसे रोकेंगे डेंगू

Read More

October 17, 2019

राशन विक्रेताओं से चालीस हजार की रिश्वत लेते सिरोही जिला रसद अधिकारी गिरफ्तार

Read More