इस बंगले के मालिक रहे श्रीशंकर तिवारी और उनकी पत्नी इंदू, बच्चन फैमिली से इतना चिढ़ते क्यों थे?

- पांडेय बताते हैं, बंगले के मालिक तिवारी और उनकी पत्नी इंदू दोनों बच्चन परिवार से चिढ़ते थे। बच्चन फैमिली की वजह से ही बंगले के गेट उनके लिए बंद हो गए।

- "उनके परिवार का इस बंगले से रिश्ता सिर्फ किराएदार का था। 1956-57 में बच्चन परिवार दिल्ली शिफ्ट हो गया, इसके बाद ही उनका इस घर से रिश्ता खत्म हो गया। फिर भी वो इसे अपना बताने की कोशिश करते रहे। यही बात तिवारी जी और उनकी पत्नी को बुरी लगती थी।"

आखिर ऐसा क्या हुआ कि रिश्ते तल्ख हुए?

- पांडेय कहते हैं- '1984 में अमिताभ कांग्रेस के टिकट पर यहां से चुनाव लड़ रहे थे। उस समय श्रीशंकर तिवारी भी कांग्रेस के नेता थे। उन्होंने राजीव गांधी के अनुरोध पर एक रात बच्चन फैमिली को खाने के लिए बंगले पर बुलाया। दोनों फैमिली खाने की टेबल पर बैठी थीं। उस दौरान तेजी बच्चन ने एक प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा- तिवारी जी, आप इस बंगले को बेचने के बारे में विचार कर रहे हों तो मैं इसे लेना चाहूंगी।'

- उन्होंने आगे बताया- 'यह सुनकर तिवारी जी तो कुछ नहीं बोले, लेकिन इंदू तिवारी गुस्सा गईं। उन्होंने कहा- आईंदा इस बारे में कतई बात मत करना। आपकी जितनी भी संपत्ति हो, उसकी कीमत बोलो, यहीं बैठे-बैठे मैं सब खरीद लूंगी। ये जवाब सुनकर बच्चन फैमिली ही नहीं, खुद तिवारी जी भी शॉक्ड रह गए थे।'

" />
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
For News (24x7) : 9829070307

Loksabha Election 2019

10th Feb 19

ई - पेपर

Breaking News
पति-पत्नी के झगड़े में गाेद से गिरा सात दिन का बच्चा, मौत |  जयपुर में 5 डिग्री तक बढ़ा तापमान, अगले 24 घंटे तुफान की चेतावनी |  पिछले चुनाव से दोगुना पकड़ी दौलत-ड्रग्स और शराब |  ईरानी संसद ने अमेरिकी सेना को आतंकी समूह का दर्जा दिया |  ईरान की संसद ने अमेरिका की सभी सेनाओं को आतंकी घोषित किया |  पापा की शहादत पर राजनीति करने वालों से कुछ नहीं कहूंगी, वे नहीं समझेंगे : जुई करकरे |  मोदी जिस प्रत्याशी के लिए रोड शो करने गए, वे दर्शक दीर्घा में खड़े रहे |  अक्षय कुमार ने मोदी का इंटरव्यू लिया, पूछा- मां के साथ रहने का मन नहीं करता? |  लोकसभा चुनाव में मतदान करने के लिए अजमेर की महिलाओं ने किया जागरूक |  लोकसभा चुनाव् के मद्देनज़र जी आर पी थाना पुलिस ने चलाया विशेष जाच अभियान | 

जहां अमिताभ का बचपन बीता, केयरटेकर ने बताया बंगले में उनकी एंट्री पर रोक क्यों?

Post Views 87

October 11, 2017

 आज 75th बर्थडे मना रहे अमिताभ बच्चन का बचपन इलाहाबाद में बीता था। यहां सिविल लाइंस के 17 क्लाइव रोड के बंगले में उनका परिवार रहता था। हाल ही में यह सुर्खियों में तब आया जब बीते 5 अगस्त को अभिषेक-ऐश्वर्या यहां आए। वे दोनों 20 मिनट गेट पर खड़े रहे। लेकिन उन्हें बंगले में बिना एंट्री के लौटना पड़ा। इस बंगले से अमिताभ का मौजूदा जुड़ाव किस तरह का है और अभिषेक-ऐश्वर्या की यहां एंट्री क्यों नहीं हो सकी, इस बारे में जानने के लिए DainikBhaskar.com ने बंगले के केयर टेकर एडवोकेट केके पांडेय से बातचीत की। उन्होंने बताया कि आखिर क्यों बच्चन फैमिली और इस बंगले के मालिक के बीच विवाद खड़ा हुआ था? अमिताभ इस बंगले में कब रहे?

- अमिताभ के पिता हरिवंश राय बच्चन 1939 में कटघर वाले मकान को छोड़कर क्लाइव रोड स्थित बंगले में किराए पर रहने आ गए। अमिताभ का जन्म 1942 में हुआ। बच्चन परिवार इस बंगले में 1956 तक रहा।

- इस बंगले (फूल वाले बंगले) में तीन बड़े कमरे हैं। दरवाजे, खिड़की और रोशनदान मिलाकर दस दरवाजे हैं। इस वजह से इसे 10 द्वार वाला बंगला भी कहा जाता है।

कौन था बंगले का मालिक और अब कौन करता है देखरेख?

- बंगले के मालिक श्रीशंकर तिवारी थे। वे वकील थे। कांग्रेस के टिकट पर इटावा से सांसद भी बने थे। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के परिवार से इनके अच्छे रिश्ते थे।

- इस बंगले में अब कोई नहीं रहता। यहां ताला लगा है। इसकी देखभाल अब ट्रस्ट के मैंबर और वकील केके पांडेय करते हैं। पांडेय, श्रीशंकर तिवारी के पड़ोसी थे। तिवारी ने ही पांडेय को बंगले की देखरेख की जिम्मेदारी दी थी। तिवारी का निधन हो चुका है।

कैसे सुर्खियों में आया यह बंगला? क्यों नहीं मिली अभिषेक-ऐश्वर्या को एंट्री?

- 5 अगस्त को अभिषेक-ऐश्वर्या को इस बंगले में घुसने नहीं दिया गया था। इस बारे में पूछे जाने पर पांडेय ने DainikBhaskar.com को बताया- यह बंगला ट्रस्ट का है।

- "उन्होंने आने से पहले ना तो कोई सूचना दी थी और न बंगला देखने के लिए परमिशन मांगी थी। क्या इलाहाबाद का कोई व्यक्ति बच्चन परिवार से बिना किसी अप्वॉइंटमेंट के मिल सकता है? नहीं ना? इसलिए ट्रस्ट के लोगों की परमिशन के बिना उन्हें अंदर नहीं जाने दिया जा सकता था।"

इस बंगले के मालिक रहे श्रीशंकर तिवारी और उनकी पत्नी इंदू, बच्चन फैमिली से इतना चिढ़ते क्यों थे?

- पांडेय बताते हैं, बंगले के मालिक तिवारी और उनकी पत्नी इंदू दोनों बच्चन परिवार से चिढ़ते थे। बच्चन फैमिली की वजह से ही बंगले के गेट उनके लिए बंद हो गए।

- "उनके परिवार का इस बंगले से रिश्ता सिर्फ किराएदार का था। 1956-57 में बच्चन परिवार दिल्ली शिफ्ट हो गया, इसके बाद ही उनका इस घर से रिश्ता खत्म हो गया। फिर भी वो इसे अपना बताने की कोशिश करते रहे। यही बात तिवारी जी और उनकी पत्नी को बुरी लगती थी।"

आखिर ऐसा क्या हुआ कि रिश्ते तल्ख हुए?

- पांडेय कहते हैं- '1984 में अमिताभ कांग्रेस के टिकट पर यहां से चुनाव लड़ रहे थे। उस समय श्रीशंकर तिवारी भी कांग्रेस के नेता थे। उन्होंने राजीव गांधी के अनुरोध पर एक रात बच्चन फैमिली को खाने के लिए बंगले पर बुलाया। दोनों फैमिली खाने की टेबल पर बैठी थीं। उस दौरान तेजी बच्चन ने एक प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा- तिवारी जी, आप इस बंगले को बेचने के बारे में विचार कर रहे हों तो मैं इसे लेना चाहूंगी।'

- उन्होंने आगे बताया- 'यह सुनकर तिवारी जी तो कुछ नहीं बोले, लेकिन इंदू तिवारी गुस्सा गईं। उन्होंने कहा- आईंदा इस बारे में कतई बात मत करना। आपकी जितनी भी संपत्ति हो, उसकी कीमत बोलो, यहीं बैठे-बैठे मैं सब खरीद लूंगी। ये जवाब सुनकर बच्चन फैमिली ही नहीं, खुद तिवारी जी भी शॉक्ड रह गए थे।'

Latest News

April 24, 2019

पति-पत्नी के झगड़े में गाेद से गिरा सात दिन का बच्चा, मौत

Read More

April 24, 2019

जयपुर में 5 डिग्री तक बढ़ा तापमान, अगले 24 घंटे तुफान की चेतावनी

Read More

April 24, 2019

पिछले चुनाव से दोगुना पकड़ी दौलत-ड्रग्स और शराब

Read More

April 24, 2019

ईरानी संसद ने अमेरिकी सेना को आतंकी समूह का दर्जा दिया

Read More

April 24, 2019

ईरान की संसद ने अमेरिका की सभी सेनाओं को आतंकी घोषित किया

Read More

April 24, 2019

पापा की शहादत पर राजनीति करने वालों से कुछ नहीं कहूंगी, वे नहीं समझेंगे : जुई करकरे

Read More

April 24, 2019

मोदी जिस प्रत्याशी के लिए रोड शो करने गए, वे दर्शक दीर्घा में खड़े रहे

Read More

April 24, 2019

अक्षय कुमार ने मोदी का इंटरव्यू लिया, पूछा- मां के साथ रहने का मन नहीं करता?

Read More

April 23, 2019

लोकसभा चुनाव में मतदान करने के लिए अजमेर की महिलाओं ने किया जागरूक

Read More

April 23, 2019

लोकसभा चुनाव् के मद्देनज़र जी आर पी थाना पुलिस ने चलाया विशेष जाच अभियान

Read More